CCL
CCL | Central Coalfields Limited | A Miniratna Company - A Govt. of India Undertaking | Ranchi | Jharkhand | India
गैर-कार्यकारी (संशोधित) के लिए सहायक पोस्ट रिटायरमेंट मेडिकेयर योजना 08.04.2020
Link to download Forticlient VPN for Windows 32 , Windows 64 and MacOS
निदेशक (तकनीकी) भारत कोकिंग कोल लिमिटेड, के पद के लिए चयन
29.03.2020 को निर्धारित जूनियर ओवरमैन की लिखित परीक्षा को स्थगित करने के संबंध में सूचना
21-03-2020 को लेखा लिपिक टी एंड एस ग्रेड- II के लिए चयन की लिखित परीक्षा को स्थगित करने के संबंध में सूचना
दिनांक 30.09.2019 की रोजगार सूचना द्वारा विज्ञापित जूनियर ओवरमैन के पद की होनेवाली लिखित परीक्षा के लिए योग्य पाये गए अभ्यर्थियों की प्रावधिक सूची
Common Window Advertisement
सेंट्रल कोलफ़ील्ड्स लिमिटेड का रिसिवेब्लस एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया(RXIL)के माध्यम से ट्रेड्स प्लेटफार्म (TReDS Platform)में प्रवेश
सीआईएल के निदेशक (पी एंड आईआर) के पद के लिए चयन
सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड के निदेशक (कार्मिक) के पद के लिए चयन
गैर-कार्यकारी (संशोधित) के लिए सहायक पोस्ट रिटायरमेंट मेडिकेयर योजना
सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के पद के लिए चयन
निदेशक (कार्मिक) एसईसीएल के पद के लिए चयन
अनुबंध के आधार पर सीसीएल में पूर्णकालिक सलाहकार (भूमि अधिग्रहण और राजस्व) की कार्य के लिए अधिसूचना
सीसीएल के लाल एवं सीसीएल के लाडली 2020-22 बैच के लिए आवेदन करें

कोयला चोरी पर अंकुश हेतु सीसीएल कर रहा आधुनिक तकनीकी का इस्ते माल 

Area- हेडक्वार्टर, Posted on- 06-03-2019


कुछ गतिविधियों का स्क्रीनशॉट
एक जिम्मेीदार सार्वजनिक उपक्रम होने के नाते सेन्ट्र ल कोलफील्ड्सथ लिमिटेड (सीसीएल) न सिर्फ कोयला उत्पािदन में नित्य् नये कीर्तिमान स्थाडपित कर रहा है है बल्कि ‘’देश के संसाधन यानि कोयले’’ की चोरी पर लगाम अंकुश के लिए नवीनतम तकनीकी का प्रयोग कर रहा है। कायाकल्पे मॉडल पर आधारित ‘’पारदर्शिता’’ सीसीएल की प्राथमिकता में से एक है। कोयला चोरी पर नियंत्रण हेतु सीसीएल अपने कार्यक्षेत्र जो झारखंड के 8 जिलों में कार्यरत है अपने कमांड क्षेत्रों में सीसीटीवी आधारित भार नियंत्रण (CCTV based Weighing Control) और निगरानी प्रणाली (Monitoring System) के साथ जीपीएस/जीपीआरएस आधारित वाहन ट्रैकिंग सिस्टम और आरएफआईडी जैसी नवीनतम तकनीक के माध्यम से कोयले की चोरी की रोकथाम नजर रखा जा रहा है। इस तकनीक की सहायता से सीसीएल के कमांड क्षेत्र के अंतर्गत खदानों से साईडिंग एवं कोल हैण्डतलिंग प्लांमट (सीएचपी) तक ट्रकों के परिवहन पर निगरानी रखी जा रही है एवं नियमित रूप से कोयला उत्पाकदन, प्रेषण, विपणन एवं अन्यत संबंधित रिपोर्ट बनायी जा रही है। 
इस प्रणाली से के मूर्तरूप लेने से सिर्फ सीसीएल के कार्यप्रणाली में पारदर्शिता बढ़ा है बल्कि उत्पाैदकता में भी वृद्धि दर्ज की गयी है। वाहन परिवहन पर निगरानी बढ़ने से कोयला चोरी पर अकुंश लगने के साथ-साथ सड़क सुरक्षा पर भी नियत्रंण हुआ है। माननीय रेल एवं कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल ने उत्पासदन, उत्पांदकता, प्रेषण के साथ-साथ कोयला चोरी पर अंकुश लगाने पर विशेष बल दिया है इस दिशा में उन्हों्ने सभी को कार्य करने हेतु प्रेरित किया है एवं समय-समय पर उचित दिशा-निर्देंश भी दिये हैं। इसी कड़ी में पिछले वर्ष माननीय मंत्री श्री गोयल ने ‘’खान प्रहरी’’ नामक मोबाईल ऐप भी जारी किया था। इस ऐप के माध्य्म से आमजन भी सरकार के कोयला चोरी रोकने की मुहिम में अपनी सहभागिता निभा रहा है। 
सीएमडी श्री गोपाल सिंह के नेतृत्व  में सीसीएल ने ‘’कायाकल्प  मॉडल ऑफ गर्वेंनेंस’’ के तहत विकास और समृद्धि के नये आयाम गढ़ रहा है। इस प्रभावशाली मॉडल का एक मजबूत स्तंडभ है पारदर्शिता। सीसीएल अपनी पारदर्शी, जिम्मे दार एवं एक उत्तररदायी कार्यप्रणाली को सुदृढ़ कर रहा है। इस दिशा में वीटीएस, आरएफआईडी, ई-टेन्ड रिंग, कोलनेट आदि को क्रियान्वित कर पारदर्शिता को सशक्तद किया है। श्री गोपाल सिंह के मार्गनिर्देंशन में सीसीएल नवीनतम तकनीक के माध्यिम से भारत सरकार की इस मुहिम में अपना महत्व्पूर्ण योगदान दे रहा है। 
निम्नलिखित तकनीक का एकीकरण कर संयुक्ते रूप से यह प्रणाली क्रियान्वित की गयी है।
(क) जीपीएस/जीपीआरएस आधारित वाहन ट्रैकिंग प्रणाली : ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) उपग्रह के आधार पर कार्य करता है। इसमें एक समय में 3 या अधिक उपग्रह कि सहायता से वाहन की स्थिति की जानकारी प्राप्तर की जाती है। जीपीएस ट्रैकिंग यूनिट एक उपकरण है जो वाहन की सटिक स्थिति निर्धारित करने और नियमित अंतराल पर कोयले की स्थिति को रिकॉर्ड करने के लिए (जीपीएस) का उपयोग करता है। वर्तमान में कुल 2150 जीपीएस/जीपीआरएस यंत्र सीसीएल कमांड क्षेत्रों में स्थापित किए गए है। 
(ख) आरएफआईडी युक्तं सीसीटीवी आधारित निगरानी एवं वजन नियंत्रण प्रणाली : रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) सिस्टम टैग को वस्तुि या वाहन पर लगाया जाता है। आरएफआईडी में आंतरिक मेमोरी होती है जिसमें वाहन संबंधी जानकारी जैसे कि सीरियल नंबर, पंजीकरण संख्या, चालक का विवरण आदि संग्रहित किया जा सकता है। जब ये आरएफआईडी टैग किसी फ़ील्ड रीडर के समक्ष से गुजरते हैं, तो आरएफआईडी में सक्षिप्तआ जानकारी मिल जाती है। इस प्रणाली में इस्ते माल की जा रही सीसीटीवी में आरएफआईडी  की जानकारी प्राप्ती करने की क्षमता है। इन सीसीटीवी को कांटाघरों (वेब्रिज), साईडिंग आदि स्थातनों पर क्रियान्वित किया गया है। इस हेतु वर्तमान में 112 सीसीटीवी स्थाेपित किये गये हैं। 
(ग) मुख्याालय एवं सभी कमांड क्षेत्रों में केंद्रीय नियंत्रण कक्ष और सभी परियोजना कार्यालय का कम्यू‍इस टरीकरण :  उपरोक्ते स्थांपित प्रणाली के माध्यतम से निरंतर निगरानी रखने के लिए सीसीएल मुख्याइलय, क्षेत्रिय कार्यालयों एवं ईकाईयों में वीटीएस नियंत्रण कक्ष तीन पालियों में लगातार कार्य कर रहा है। निगरानी के साथ-साथ इस प्रणाली के माध्यकम से अलर्ट/रिपोर्ट प्राप्तक की जाती है। इन रिपोर्टों का विश्लेषण कर उचित कार्रवाई की जाती है। 2150 आरएफआईडी टैग के माध्यजम से वाहनों के परिवहन पर सतत नज़र रखने के लिए दो प्रक्रिया विकसित की गयी है। 
1. मानचित्र देखने के लिए एक वेब आधारित जीआईएस प्रणाली।
2. त्वरित निर्णय हेतु मोबाइल एप्लीकेशन प्रणाली।
इस प्रणाली से प्राप्तर डाटा को क्षेत्रिय कार्यालय एवं मुख्याणलय स्थित सर्ववर पर रखा जाता है जिससे समय-समय पर रिपोर्ट बनायी जाती है। इन रिपोर्ट से प्रबंधन द्वारा जानकारी, निर्णय एवं विभिन्नस कार्यवाई हेतु इस्तेनमाल किया जाता है। 



 

   कंपनी    व्यवसाय    जानकारी डेस्क    ऑनलाइन सेवा    संपर्क
   इतिहास    प्रदर्शन हाइलाइट्स    नियम और नियमावली    शिकायत डेस्क    महत्वपूर्ण फोन / ई - मेल
   कंपनी प्रोफाइल    व्यवसाय के साधन    नोटिस    ऑनलाइन भर्ती    कार्यात्मक पदों की ई-मेल
   एफडी प्रोफ़ाइल    बिल भुगतान की जानकारी    फार्म और प्रारूप    पंजीकृत कार्यालय
   ऑपरेशन के क्षेत्र    ईएमडी / एसडी की स्थिति    परिपत्र / दस्तावेज़    ऑनलाइन प्राईड प्रपत्र
   प्रबंध    एचईएमएम स्थिति    शक्तियों का प्रत्यायोजन    वार्षिक संपत्ति रिटर्न
   सूचना का अधिकार अधिनियम    मूल्य निर्धारण    निविदाएं     
   मान्यता    दर अनुबंध    महत्वपूर्ण लिंक     
   मेगा प्रोजेक्ट्स    आपूर्ति आदेश    शिकयतों का सुधार     
संरचना एवं विकास : प्रणाली विभाग, सी. सी. एल. एवं कंप्यूटर एड, रांची